बुधवार, 27 जनवरी 2010

'अनुभूतियाँ' के विमोचन और समीक्षा की ख़बरें सब एक साथ.. # # # # दीपक मशाल

आप सभी बुजुर्गों के आशीर्वाद, हमउम्रों और अनुजों के प्रेम और शुभकामनाओं के बल पे काव्यसंग्रह 'अनुभूतियाँ' का प्रकाशन और विमोचन संभव हो सका है... समयाभाव और अन्य कई विपरीत परिस्थितियों की वजह से निमंत्रण तो ना भेज सका... इसलिए तकलीफ मुझे भी है.. लेकिन विमोचन की रिपोर्ट लगा रहा हूँ.
 वैसे अधिकाँश मित्रों को तो पता चल ही चुका है लेकिन आधिकारिक रूप से अपने ब्लॉग पर पहली बार ये सब लगा रहा हूँ... आइये देखिये जरूर..

शिवना प्रकाशन, सीहोर और डॉ. कुमारेन्द्र सिंह जी सेंगर, उरई के अलावा हाल में विश्व पुस्तक मेला में 'अनुभूतियाँ' देखें और अनुग्रहीत करे..

आदरणीया निर्मला कपिला मासी जी द्वारा 'अनुभूतियाँ' काव्य-संग्रह समीक्षा

आदरणीया रश्मिप्रभा जी द्वारा 'अनुभूतियाँ' काव्य-संग्रह समीक्षा

बुंदेलखंड टुडे में 'अनुभूतियाँ' पुस्तक विमोचन समाचार

'अनुभूतियाँ' पुस्तक विमोचन समाचार शिवना प्रकाशन ब्लॉग पर

अनुभूतियाँ से सम्बंधित अन्य ख़बरें..




स्नेकांक्षी आपका-
दीपक मशाल

20 टिप्‍पणियां:

  1. waaaaaaaah dil khush ho gaya dekh kar...bahut bahut badhai Deepak.

    उत्तर देंहटाएं
  2. दीपक , इस काव्य संग्रह के लिये मेरी हार्दिक बधाईयाँ स्वीकार करो । पहला काव्य संग्रह पहली संतान की तर्ह होता है ,इसे आगे चलकर बनना है या बिगडना है यह तुम्हारे हाथ में है । ज़्यादा प्रशंसा से फूलना नहीं और ज़्यादा आलोचना से दुखी नहीं होना यही एक अच्छे कवि का गुण है । तुम्हारी रचना यात्रा जारी रहे यह शुभकामनायें । एक प्रति मुझे भी भेज देना ताकि मै भी इसकी समीक्षा लिख दूँ - शरद

    उत्तर देंहटाएं
  3. दीपक तुम्हारी पुस्तक विमोचन से सम्बंधित सभी ख़बरों को जो समाचार पत्रों में निकली है उन्हें एक ब्लॉग पर डालना चाह रहे हैं. जल्द ही तुमको सूचना देंगे.

    उत्तर देंहटाएं
  4. आपको बहुत-बहुत बधाई हो दीपक भईया, और भगवान से दुआं करता हूँ कि आपकी की इस काव्य संग्रह को नयी ऊचाई और बुलंदी प्राप्त हो ।

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत बहुत बधाई दीपक जी !

    क़ोशिश करुंगा कि निर्मला कपिला जी से लेकर आप की कविताए बांच सकू ...

    ___ राकेश वर्मा

    उत्तर देंहटाएं
  6. इस काव्य संग्रह के लिये मेरी हार्दिक बधाईयाँ स्वीकार करो, ओर आगे ओर भी अच्छा लिखो आज मेने निर्मला जी के ब्लांग पर पढा था, शुभकामनाये, अब तबीयत केसी है, मुझे भी जुकाम ने जकड लिया है.

    उत्तर देंहटाएं
  7. waah waah waah..!!
    itni badi coverage dekh kar man khush ho gaya ..
    lekin mujhe to pata chala tha ki bahur saare akhbaaron mein ye kahabar aayi thi...
    mujhe to sabhi akhbaaron ke bhi naam nahi maloom ..AMAR UJAALA mein bhi aayi thi ye khabar..aur bhi kai akhbaar the...unki ctting kyun nahi daali...
    bahut bahut khushi hui hai dekh kar..
    bas aise hi aage badhte lago ..khoob naam ho tumhara yahi asheerwaad hain...
    aur jald se jald theek ho jaao...yahi prarthana hai..
    khush raho..
    didi...

    उत्तर देंहटाएं
  8. दीदी जैसा कि अक्सर होता है... समाचार में कोई बहुत ज्यादा फर्क नहीं होता... खबर तो वैसे प्रिंट मीडिया में दैनिक जागरण, कानपूर... अमर उजाला कानपूर, दैनिक आज, दैनिक भास्कर भोपाल, हिन्दुस्तान ने और इलेक्ट्रोनिक मीडिया में ई टी.वी. उत्तरप्रदेश और जैन टी.वी. ने भी साक्षात्कार लिया था.. ये
    सब रेकॉर्डिंग और फोटो मैं भारत में ही छोड़ के आया क्योंकि उन्हें यहाँ लगाना ठीक नहीं लगा.. लेकिन आप कहती हैं तो वो भी मंगवा लूँगा.
    जय हिंद... जय बुंदेलखंड....

    उत्तर देंहटाएं
  9. 'अनुभूतियाँ' के विमोचन की ढेर सारी बधाइयाँ ...विमोचन से उपजी अनुभूतियों की प्रतीक्षा रहेगी.

    उत्तर देंहटाएं
  10. दीपक जी बहुत बधाई , आदरणीय निर्मला कपिला जी के ब्लाग पर समीक्षा भी पढ़ लिया ।

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत बहुत बधाई दीपक और ढेरों शुभकामनाएं....बहतु अच्छा लगा...इस छोटी सी उम्र में इतनी बड़ी एचीवमेंट देख...बस धूम मचा दे आपका काव्यसंग्रह...यही कामना है

    उत्तर देंहटाएं
  12. deepak ji
    sabse pahle to hardik badhayi sweekarein .
    ishwar se kamna hai ki aap yun hi unnati ke path par agrasar hote rahein aur apni nayi nayi anubhutiyon se hamein navazte rahein.

    उत्तर देंहटाएं
  13. इस उपलब्धि के लिए आप दिल से बधाई के पात्र हैं।
    बड़ी ख़ुशी हुई इस बारे में जानकार।

    उत्तर देंहटाएं
  14. दीपक जी बहुत बधाई , आदरणीय निर्मला कपिला जी के ब्लाग पर समीक्षा भी पढ़ लिया

    उत्तर देंहटाएं
  15. इस उपलब्धि के लिए आप दिल से बधाई के पात्र हैं।
    बड़ी ख़ुशी हुई इस बारे में जानकार।

    उत्तर देंहटाएं
  16. Sir aapko dheron badhaiyaan!!!
    Aapka kavya sangrah prakashit hua iska garv jitna aapko hai utna shayad hum anujon ko bhi hai. Shayad apne 1 varsh ka samay jo aapke nikat reh k gujra shayad usme hum pehchan na paaye ki ek aesa bhi pratibhashali kavi hmare beech hai. Mene aapke dwara post ki hui sabhi smalochnayen padhin. aapki kavitaon ko jis prakar ki sarahna mili hai sach me wo prashanshneey hain aur aap inke sacche hakdaar hain.
    Aapke ye sarthak prayas is kshetra me aapko shikar pe sthapit kren ye meri shubhkamna hai.

    apka anuj
    Deepankar

    उत्तर देंहटाएं

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...