गुरुवार, 2 सितंबर 2010

मिलिए सुपरस्टार आइन्स्टाइन से.. ------>>>दीपक मशाल

सबसे पहले तो दुनिया के पहले दार्शनिक(श्री कृष्ण) के जन्मदिवस पर आप सबको शुभकामनाएं..

यहाँ मिलिए सुपरस्टार आइन्स्टाइन से.. पक्का आप दीवाने हो जायेंगे इनके..

और अब देखिये इन्हें टेलीविजन पर..

साथ में इस नाचीज़ की १० साल पुरानी चंद गुस्ताखियाँ बर्दाश्त कीजिए-

गुस्ताखी नंबर १-

हर नज़र को यहाँ प्यार करना नहीं आता

हर जुबां को यहाँ इकरार करना नहीं आता

बस इसलिए तन्हा खड़े हैं हम अब तलक

इश्क़ करते हैं मगर इज़हार करना नहीं आता

गुस्ताखी नंबर २-

क्या करेंगे झाँक कर

मेरे गुज़रे हुए कल में

कुछ ख्वाबों की हकीक़त से

रूबरू हो जायेंगे

इस कब्र के ज़ख्मों की

टीस गर पहचान ली

कुछ शरीफ इस शहर के

बेआबरू हो जायेंगे

गुस्ताखी नंबर ३-

जो भर दे ज़ख्म-ए-जिंदगी

मरहम ऐसी मिलती नहीं

वर्ना पैमानों से कर के आशिकी

माशूक ना हम बनते कभी

गुस्ताखी नंबर ४-

किताबें पढ़ने लगीं चेहरा मेरा

ख्याल जब भी मुझे आया तेरा

फड़फडाते पन्ने लगे कहने कि जैसे

अभी छू के गया मुझे साया तेरा

गुस्ताखी नंबर ५-

बड़े बेदर्द कातिल हो

एहसान ये करना कम से कम

बर्बाद भले ही कर जाओ

बदनाम ना करना कम से कम..

माफीज़दा -

दीपक मशाल

41 टिप्‍पणियां:

  1. आज तो कमाल पर कमाल किया है।
    बेहद खूबसूरत रचनाये लगाई है और जनाब आइंस्टीन का तो कहना ही क्या है।
    कृष्ण प्रेम मयी राधा
    राधा प्रेममयो हरी


    ♫ फ़लक पे झूम रही साँवली घटायें हैं
    रंग मेरे गोविन्द का चुरा लाई हैं
    रश्मियाँ श्याम के कुण्डल से जब निकलती हैं
    गोया आकाश मे बिजलियाँ चमकती हैं

    श्री कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाये

    उत्तर देंहटाएं
  2. बड़े दिनों बाद आपका लिखा कुछ समझ में आया,
    हो गुस्ताखी माफ़,'मजाल' प्यार को फिर भी समझ नहीं पाया!

    उत्तर देंहटाएं
  3. दीपक,
    आप को भी जन्माष्टमी की शुभकामनायें।
    इस सुपरस्टार से फ़िर मिलेंगे।
    गुस्ताखियां पसंद आईं, विशेषकर चार नं.। दस साल पहले की हैं ये? इसका मतलब शुरू से ही होनहार हो तुम तो:)

    उत्तर देंहटाएं
  4. आप को भी जन्माष्टमी की शुभकामनायें ... आज तो लाजवाब रचनाओं का संगम है ब्लॉग पर ...... एक से बॅड कर एक .....

    उत्तर देंहटाएं
  5. आइन्स्टाइन तो वास्तव में सुपर स्टार निकला ।
    बढ़िया ट्रेन किया है ।
    लेकिन क्या एनीमल लवर्स इसे ओब्जेक्ट नहीं करेंगे ?

    गुस्ताखियाँ तो बड़ी हसीन हैं भाई ।
    जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनायें ।

    उत्तर देंहटाएं
  6. श्री कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाये ,

    aisi gustakhiyan karte rahe ,
    bahut pasand aayi aapki ye gushtakhiyan

    उत्तर देंहटाएं
  7. दस साल पहले सिर्फ पांच ? वो वक़्त तो कुछ ज्यादा करने का था :)

    जन्माष्टमी की शुभकामनाएं !

    उत्तर देंहटाएं
  8. गुस्ताखी नंबर २ वाली कविता तो काफी खतरनाक है भाई....:)
    वैसे सारी गुस्ताखियाँ बहुत ही बढ़िया हैं..करते रहो...:)

    उत्तर देंहटाएं
  9. ..... बहुत ही अच्छा लग रहा है!

    ..जन्माष्टमी की बहुत बहुत बधाई!...ढेरों शुभ-कामनाएं!

    उत्तर देंहटाएं
  10. गुस्ताखियां..:)

    राधे राधे....जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  11. आज तो कमाल पर कमाल किया है।

    आपको और आपके परिवार को कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  12. गुस्ताखियाँ तो बड़ी सोंणी लगीं ।
    जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनायें ।

    उत्तर देंहटाएं
  13. गुस्ताखी नंबर १- तो आप ने शायद हमारे लिये लिखी है जी, बहुत सुंदर रचना

    उत्तर देंहटाएं
  14. हम तो ये नहीं समझ पाए कि उस तोते की कारस्तानी देख कर उसे सुपरस्टार कहें या तुम्हारी गुस्ताखियाँ पढ़ कर तुम्हें?
    फिर याद आया कि तुम तो सदाबहार सुपरस्टार हो, लगातार तुम्हारी गुस्ताखियाँ संसार को देखनी हैं.
    आशीर्वाद
    जय हिन्द, जय बुन्देलखण्ड

    उत्तर देंहटाएं
  15. इन महाशय को देख चुके हैं। गुस्ताखियाँ माफ हों।

    उत्तर देंहटाएं
  16. मजा आ गया इनको देख और तुम्हारी गुस्ताखियों का आंकलन कर. :)

    श्री कृष्ण जन्माष्टमी की बहुत शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  17. बहुत सुन्दर तरीका है गुस्ताखियाँ कहने का ...

    उत्तर देंहटाएं
  18. अब तक के जीवन का निचोड़ दे दिया आपने तो..बहुत बढ़िया

    उत्तर देंहटाएं
  19. जो भर दे ज़ख्म-ए-जिंदगी

    मरहम ऐसी मिलती नहीं

    वर्ना पैमानों से कर के आशिकी

    माशूक ना हम बनते कभी ...

    बहुत ही बढ़िया

    उत्तर देंहटाएं
  20. आप की रचना 03 सितम्बर, शुक्रवार के चर्चा मंच के लिए ली जा रही है, कृप्या नीचे दिए लिंक पर आ कर अपनी टिप्पणियाँ और सुझाव देकर हमें अनुगृहीत करें.
    http://charchamanch.blogspot.com/2010/09/266.html


    आभार

    अनामिका

    उत्तर देंहटाएं
  21. वाह भाई दीपक जी। क्या बात है।

    उत्तर देंहटाएं
  22. वाह-वाह!!
    क्या बात है! कमाल है!!!
    गुस्ताखियां पसंद आईं...!

    उत्तर देंहटाएं
  23. नेट के कारण चित्र नहीं देख पाया।
    ये गुस्थाखियाँ तो सभी करते हैं कुछ खास की चर्चा भी...

    उत्तर देंहटाएं
  24. नमस्ते दीपक, बहुत मजा आया इन साहब से मिलकर!

    और-
    सारी गुस्ताखियां माफ़ हैं,
    जब दिल तुम्हारा साफ़ है! :)

    उत्तर देंहटाएं
  25. इश्क़ करते हैं मगर इज़हार करना नहीं आता
    वाह बेटा कितना सफेद झूठ बोल लेते हो? मैने तु8म्हारी कवितायें पढी है उनमे क्या था? चलो कोई बात नही माशूक बेशक मत बनो मगर पैमानों से आशिकी अच्छी बात नही। बुरा मत मानना मज़ाक कर रही हूँ पहली बात पर दूसरी पर सीरियस हूँ। सलाह देना मेरा काम मानना तुम्हारा। वीडिओ बहुत अच्छे लगे। आशीर्वाद।

    उत्तर देंहटाएं
  26. बहुत ही सुन्दर पोस्ट और रचना है!
    --
    सुपरस्टार आइन्स्टाइन का तो जवाब नहीं!

    उत्तर देंहटाएं
  27. ...अच्छी प्रस्तुति ....
    ( क्या चमत्कार के लिए हिन्दुस्तानी होना जरुरी है ? )
    http://oshotheone.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  28. अरे वाह!!!!!

    जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  29. दीपक जी, इतनी हसीन गुस्ताखियाँ मत किया कीजिये !

    उत्तर देंहटाएं
  30. वाह वाह आज तो भण्डार खोल दिया जी...........

    आनन्द आ गया

    बधाई !

    उत्तर देंहटाएं
  31. @दराल सर
    ये प्रतियोगिता भी तो प्रसिद्द एनिमल प्लेनेट वालों ने आयोजित की थी सर.. और फिर आइन्स्टाइन को चिड़ियाघर की तरह का बड़ा सा स्पेस दिया गया है रहने को जहाँ उसे सिखाया जाता है.. ये लोग पिंजड़े में थोड़े ना रखते हैं
    @ अली सर
    ये शोकेस का माल(गुस्ताखियाँ) है.. सब नहीं लगा सकते ना.. :)
    @कुमारेन्द्र चाचा जी
    आपका स्नेह बना रहे यही सबसे बड़ी सुपरस्टारिज्म है
    सभी स्नेहीजनों का आभार.. :)

    उत्तर देंहटाएं
  32. aapki gustakhiyan....
    rachnasheelta ki utkrisht'ta ka swatah darshan karati hain!!!
    keep writing:)

    उत्तर देंहटाएं
  33. चर्चा मंच के साप्ताहिक काव्य मंच पर आपकी रचना 7- 9 - 2010 मंगलवार को ली गयी है ...
    कृपया अपनी प्रतिक्रिया दे कर अपने सुझावों से अवगत कराएँ ...शुक्रिया

    http://charchamanch.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...